Register

Katha Sagar

<< < 1 > >>
Show:

  • भगवान जो उठ कर चल पड़ते हैं भक्तों के साथ

  • बांसुरी, माखन, मिश्री, दूध, दही और घी भगवान श्री कृष्‍ण को अत्यंत प्रिय है

  • खाली हाथ अाए अौर खाली हाथ चले। जो अाज तुम्हारा है, कल अौर किसी का था, परसों किसी अौर का होगा। इसीलिए, जो कुछ भी तू करता है, उसे भगवान के अर्पण करता चल।




<< < 1 > >>
Show:
Comments


Leave your comments

Subject:
Comments:

Menu

Poll

Visiting Counter



Weather in Mathura